नमस्कार दोस्तों…आप तो जानते ही होंगे कि उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में अवैध रेत खनन के मामले में आईएएस बी चंद्रकला समेत 11 लोगों के खिलाफ सीबीआई ने केस दर्ज कर लिया है।

 

आप को बता दें कि इस कडी में सोमवार को बुलंदशहर में जिलाधिकारी के पद पर तैनाती के दौरान बी चंद्रकला और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वाइरल हो रही है। तो आइए इस फोटो में ऐसा क्या है…इस के बारे में विस्तार से जानते है।

आप को जानकारी के लिए बता दें कि इस फोटो में देश की महिला आईएएस बी चंद्रकला और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव एक कार्यक्रम में साथ में बातचीत करते हुए नजर आ रहे है।

इन तस्वीरों पर लोग कमेंट करके कह रहे है कि यह दोनों मिले हुए है। दोनों ने मिलकर उत्तर प्रदेश में कई कांड किए है।

यूपी कैडर की 2008 बैच की आईएएस अधिकारी अक्सर ही सुर्खियों में बनी रहती है। सीबीआई ने अवैध रेत खनन मामले में यूपी में कई जगह रेड करने और दस्तावेज जुटाने की प्रक्रिया पूरी कर ली है। अहम दस्तावेजों के साथ सीबीआई की टीम दिल्ली भी रवाना हो गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बता दें कि इस मामले में डीएम हमीरपुर के तौर पर आईएएस बी चंद्रकला के पौने तीन साल के कार्यकाल की जांच की जा रही है। 2 साल की जांच के बाद सीबीआई ने बी चंद्रकला और समाजवादी पार्टी के एमएलसी पर एफआईआर दर्ज की है।

साथ ही साथ उन के खिलाफ आपराधिक साजिश, अवैध वसूली की धाराओं में एकआईआर दर्ज भी हुई है। बता दें कि अखिलेश यादव की सरकार में आईएएस बी चंद्रकला की पोस्टिंग पहली बार हमीरपुर जिले में जिलाधिकारी के पद पर की गई थी।

आरोप यह है कि इस आईएएस ने जुलाई 2012 के बाद हमीरपुर जिले में 50 मौरंग के खनन के पट्टे किए थे। जब कि ई-टैंडर के जरिए मौौरंग के पट्टों पर स्वीकृति देने का प्रावधान था, लेकिन आईएएस बी चंद्रकला ने सारे प्रावधानों की अनदेखी की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here